देश

PM मोदी ने सुनाई कविता, ‘वो जो मुश्किलों का अंबार है, वही मेरे हौसलों की मीनार है’

ह्यूस्टन:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने रविवार को 50 हजार अमेरिकी भारतीयों को संबोधित करते हुए 'हाउडी मोदी' (Howdy Modi) के जवाब में उस वक्त माहौल को शायरना बना दिया जब उन्होंने अपनी कविता (poem) की दो लाइनें पढ़ीं. हालांकि पीएम मोदी ने समय कम होने का हवाला देते हुए अपनी कविता को पूरा नहीं पढ़ा और सिर्फ दो ही लाइनें सुनाई लेकिन उनकी दो लाइनों का श्रोताओं को मुग्ध कर दिया. 

अपने भाषण के दौरान पीएम मोदी ने कहा, यहां पूरी कविता सुनाने का तो समय नहीं है, लेकिन मैं मेरी लिखी एक कविता की दो लाइने आपको सुनाना चाहता हूं, 'वो जो मुश्किलों का अंबार है, वही तो मेरे हौसलों की मीनार है.'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 50 हजार अमेरिकी भारतीयों को संबोधित करते हुए 'हाउडी मोदी' के जवाब में कहा कि भारत में सब कुछ ठीक है. इसके साथ ही उन्होंने इस बात को कई अन्य भाषाओं में व्यक्त करने की कोशिश की. भारत में भाषाओं की विविधता पर जोर देते हुए उन्होंने कहा, 'सब चंगे सी, मजामा छे, एलम सौकियाम, सब खूब भालो, सबू भाल्लाछी.'

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की मौजूदगी में वहां मौजूद अमेरिकी नागरिकों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, 'मेरे अमेरिकी मित्र इससे आश्चर्यचकित हैं कि मैंने क्या कह दिया. प्रेसिडेंट ट्रंप और मेरे अमेरिकी मित्रों, मैंने भारतीय भाषाओं में केवल यह कहा कि सब कुछ ठीक है.' 

पीएम मोदी ने कहा कि भारत भिन्न भाषाओं, भिन्न संस्कृति, भिन्न खानपान के साथ विविधताओं से भरपूर है और यही इसकी अनूठी पहचान है और ताकत है. उन्होंने कहा, 'हमारा जीवंत लोकतंत्र हमारा आधार है और यही हमारी प्रेरणा है.'
 

Tags

Related Articles

Close