मध्य प्रदेश

प्रदेश में छाये बादल, फिर होगी भारी बारिश

भोपाल।  मध्य प्रदेश में पिछले दो दिनों से बारिश से राहत मिली है। पिछले 24 घंटे के दौरान उज्जैन सागर भोपाल ग्वालियर संभागों के जिलों में अधिकांश स्थानों पर व इंदौर रीवा जबलपुर संभागों के जिलों में अनेक स्थानों पर पर वर्षा हुई। कुछ शहरों में हल्की बारिश हो रही है। कुछ स्थानों पर पानी थमा हुआ है। इस बीच फिर संकट के बादल गहरा गये हैं। मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि आने वाले दिनोंं में फिर भारी बारिश हो सकती है। मौसम वैज्ञानिक शैलेंद्र नायक ने ईएमएस को बताया कि अरब सागर में बने सिस्टम से प्रदेश में नमी आने का सिलसिला शुरू हो गया है। इससे प्रदेश में वर्षा की गतिविधियों में तेजी आ रही है। इसलिए अगले 24 घंटों में 15 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। कुछ जिलों में यलो अलर्ट जारी किया है। 

आगे क्या? इन जिलों में खतरे की चेतावनी
मौसम वैज्ञानिकों ने बताया कि 15 जिलों में भारी बारिश की यलो चेतावनी जारी की गई है। आगर, गुना, अशोकनगर, दमोह, मंदसौर, नीमच, पन्ना, राजगढ़, रतलाम, रीवा, सागर, सतना, सीधी, सिंगरौली, और उज्जैन जिले में कुछ इलाकों में भारी बारिश की संभावना है। 

यहां गरज चमक के साथ बारिश
मौसम केंद्र द्वारा जारी चेतावनी के अनुसार उज्जैन, रतलाम, शाजापुर, आगर, देवास, नीमच, मंदसौर, इंदौर, धार, खंडवा, खरगोन, अलीराजपुर, झाबुआ, बड़वानी, बुरहानपुर, भोपाल, रायसेन, राजगढ़, विदिशा, सीहोर, होशंगाबाद, बैतूल, हरदा, सागर, दमोह, पन्ना, टीकमगढ़, छतरपुर, गुना, अशोकनगर, शिवपुरी, रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, कटनी, जबलपुर, नरसिंहपुर, बालाघाट,  छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला, अनूपपुर, डिंडोरी, उमरिया, शहडोल, भिंड मुरैना, ग्वालियर, दतिया जिलों में बारिश या गरज चमक के साथ बौछारें पडऩे का अनुमान है।

कुछ दिनों से मिली है राहत
गौरतलब है कि प्रदेश में अब तक औसत से बहुत अधिक बारिश हो चुकी है। कई जिलों ने बाढ़ का दंश झेला है। इस बीच, पिछले कुछ दिनों बारिश थमी हुई थी। बीते 2 से 3 दिनों से दिन के समय धूप निकल रही है, लेकिन शाम होते ही बारिश भिगो रही है, वहीं शनिवार रात को भी कई हिस्सों में तेज बारिश हुई है। मौसम विभाग का मानना है कि रुककर बारिश का सिलसिला माह के अंत तक जारी रहने वाला है। हालांकि बारिश की गति में थोड़ी कमी जरूर आएगी।

Tags

Related Articles

Close