छत्तीसगढ़

स्थापना दिवस समारोह में छात्र-छात्राओं की प्रस्तुति ने मन मोहा

बिलासपुर । बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र, सरकंडा, बिलासपुर का 19 वां स्थापना दिवस समारोह शैलेष पाण्डेय, विधायक, बिलासपुर विधानसभा क्षेत्र के मुख्य अतिथ्य में संपन्न हुआ। समारोह के विशिष्ट अतिथि डॉ. (श्रीमती) रत्नावली सिंह, पूर्व विभागाध्यक्ष (हिन्दी विभाग), शासकीय बिलासा कन्या स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, बिलासपुर, नन्द कश्यप, अध्यक्ष अखिल भारतीय छत्तीसगढ़ किसान सभा थे। अध्यक्षता आनन्द मिश्रा, सदस्य प्रबंध मण्डल, इं.गा.कृ.वि.वि., रायपुर ने की।
कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि एवं अन्य अतिथियों ने मां सरस्वती की प्रतिमा तथा बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलित कर किया। तत्पश्चात मुख्य अतिथि एवं अन्य अतिथियों का स्वागत, सम्मान शाल श्रीफल व प्रतीक चिन्ह भेंटकर किया गया।
अपने स्वागत उद्बोधन में कृषि महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ. आर.के.एस. तिवारी ने कहा कि अगर समाज में किसी का चरित्र अनुकरणीय हो, प्रेरणास्पद हो तो उसके व्यक्तित्व एवं कृतित्व की शोधपूर्ण जानकारी समाज के समक्ष रखना हमारा प्रथम दायित्व है। आज महाविद्यालय के स्थापना दिवस के अवसर पर हम बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल को हृदय से स्मरण करना चाह रहे है जो उनके प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करने का सुनहरा अवसर है।
कार्यक्रम की विशिष्ट अतिथि तथा बैरिस्टर साहब की पुत्री डॉ. (श्रीमती) रत्नावली सिंह ने अपने पिता को याद करते हुये कहा कि जांजगीर के छोटे से कस्बे में पैदा होकर बैरिस्टर साहब ने अपने व्यक्तित्व को विकसित किया। उच्च कोटि की मित्रता तथा उच्च पद में जाकर भी उन्होने कभी भी छोटों को नहीं भूला। कार्यक्रम के अध्यक्ष आनंद मिश्रा ने अपने उद्बोधन में कहा कि जीवन में सादगी बड़ा आदर्श है। लोकतंत्र में परम्परा और आदर्श होना चाहिये। बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल बचपन से ही राष्ट्र के प्रति नि: स्वार्थ सेवा करते रहे है। वे किसानों के हितचिंतक थे। जन-जन में स्वतंत्रता का शंखनाद भरने के उद्देश्य से हालैण्ड की स्वाधीनता का इतिहास का हिन्दी भाषा में लेखन कर प्रकाशन किया। इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि शैलेष पाण्डेय ने अपने उद्बोधन में कहा कि आज बहुत ही खुशीका दिन है। बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल जी के नाम पर रखे गये कॉलेज में अतिथि बनकर आना मेरे लिये सुखद अनुभूति है। इतने गरिमामय कार्यक्रम के आयोजन के लिये मैं महाविद्यालय के अधिष्ठाता महोदय को धन्यवाद देता हूँ। महाविद्यालय के प्रांगण में एक प्रकार की सकारात्मक ऊर्जा है। ठाकुर साहब का नाम इसी वजह से सदियों तक चलता रहेगा। महाविद्यालय के 19 वें स्थापना दिवस समारोह के अवसर पर छात्र-छात्राओं ने देशभक्ति से ओत-प्रोत गीत की प्रस्तुति दी। कु. शिवानी शर्मा एवं साथियों ने बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल जी के जीवन पर नाटिका प्रस्तुत कर सभी का मन मोह लिया। महाविद्यालय के स्थापना दिवस के अवसर पर हिन्दी पखवाड़ा के अन्तर्गत आयोजित प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्रओं को प्रमाण पत्र तथा पुरूस्कार प्रदान किया गया। कार्यक्रम का सफल संचालन अजीत विलियम्स एवं आभार डॉ. आर.के. शुक्ला ने व्यक्त किया। 19 वें स्थापना दिवस के अवसर पर महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र के प्राध्यापक, वैज्ञानिकगण, कर्मचारी एवं छात्र-छात्रायें उपस्थित थे।

Tags

Related Articles

Close