छत्तीसगढ़

 जोनल रेल कार्यालय में राजभाषा सप्ताह समारोह संपन्न 

बिलासपुर । पूरे सप्ताह भर चले राजभाषा सप्ताह-2019 का समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन सरस ‘काव्य संध्या‘ के साथ समाप्त हुआ. समारोह के मुख्य अतिथि प्रमोद कुमार, अपर महाप्रबंधक ने अपने संदेश में कहा कि आप केवल राजभाषा सप्ताह एवं पखवाड़ा आदि तक ही अपने को सीमित ने रखें बल्कि हर दिन हिंदी दिवस मानते हुए रेलों के कामकाज में अधिक से अधिक हिंदी का प्रयोग करें और दक्षिण पूर्व रेलवे को इस दिशा में मजबूती प्रदान करें. उन्होंने यह भी कहा कि बैठक में चर्चा से पहले आंकड़े की सच्चाई की एक बार अवश्य जांच कर लें. इस अवसर पर आयोजित बैठक में पधारे सभी विभाग प्रमुखों एवं मंडलों व कारखानों के सदस्यों से भी कहा कि कार्यालयों एवं सेक्शनों में जाकर देंखें कि कर्मचारियों को हिंदी में काम करने में क्या कठिनाई हो रही है. उन्होंने कहा कि अपने अपने मंडल में आने वाले प्रत्येक स्टेशनों एवं यूनिटों में राजभाषा हिंदी का अधिकाधिक प्रयोग सुनिश्चित करें और ध्यान रखें कि सरकारी कामकाज में तथा आम जनता की जानकारी के लिए सभी प्रकार की सूचनाएं एवं पत्र-परिपत्र सरल से सरल हिंदी में ही जारी करें ताकि हिंदी की उत्तरोत्तर प्रगति हो सके।    
मुख्य राजभाषा अधिकारी शशि प्रकाश द्विवेदी के मार्गदर्शन में पूरे सप्ताह आयोजित कार्यक्रम सफल रहा. उन्होंने अपने संबोधन में पुरस्कार विजेताओं तथा बैठक में आये हुए सदस्यों को उपयोगी एवं सार्थक कार्य करने का अनुरोध किया. उन्होंने रेलवे बोर्ड एवं मुख्यालय के आदेशों का अनुपालन करने तथा रिपोर्ट भेजने के निदेश मंडलों एवं कारखानों को दिये. इस अवसर पर सरस ‘‘सरस काव्य संध्या’’ का आयोजन किया गया जिसका संचालन खुर्शीद हयात, वरिष्ठ साहित्यकार,बिलासपुर ने किया जिसमें बिलाईगढ़ से बंशीधर मिश्रा एवं बिलासपुर से कुमारी हनी चौबे ‘‘मधुक्षरा‘‘ एवं नितेश पाटकर को आमंत्रित किया गया था, इन्होंने अपनी कविताओं के माध्यम से हिंदी की महिमा का बखान एवं हिंदी प्रयोग की दिशा को रेखांकित किया. इसके पश्चात सप्ताह के दौरान चलाए गए विभिन्न प्रतियोगिताओं के कुल 82 पुरस्कार विजेताओं एवं निर्णायकों को अपर महाप्रबंधक महोदय के कर कमलों से पुरस्कृत किया गया. कार्यक्रम का संचालन एवं धन्यवाद ज्ञापन वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी विक्रम सिंह ने किया।

Tags

Related Articles

Close