मध्य प्रदेश

हनी ट्रैप: एक महिला के जाल में फंसकर एक पूर्व सांसद ने खुदकुशी कोशिश की थी

भोपाल. नेताओं और अफसरों को अश्लील वीडियो के जरिए फंसाकर ब्लैकमेल करने के मामले में एक पूर्व सांसद की आत्महत्या की कोशिश करने की बात भी सामने आई है। इंदौर और भोपाल से गिरफ्तार महिलाओं को राजनेताओं, पूर्व मंत्री, विधायक और पूर्व सांसदों के साथ कई अफसरों के घरों पर अक्सर देखा गया। बताया जा रहा है कि इनमें से एक महिला के जाल में फंसकर एक पूर्व सांसद ने खुदकुशी कोशिश की थी, जिसके बाद उनकी पार्टी ने उन्हें विवाद से बाहर निकाला। पुलिस ने इस मामले में अब तक भोपाल और इंदौर से पांच महिलाओं और एक ट्रक ड्राइवर (कुल 6) को गिरफ्तार किया है। 

ये महिलाएं इंदौर नगर निगम के इंजीनियर हरभजन सिंह का एक छात्रा के साथ बनाया वीडियो वायरल करने की धमकी देकर 3 करोड़ रुपए की मांग कर रही थीं। निगम के इंजीनियर को ब्लैकमेल करने की एकमात्र एफआईआर से ही सबकुछ सामने आया है। भास्कर की पड़ताल में पता चला कि भोपाल की आरती पति पंकज दयाल की निगम इंजीनियर से दोस्ती थी। आरती ने नौकरी दिलाने के बहाने नरसिंहगढ़ की 18 साल की बीएससी छात्रा मोनिका पिता लाल यादव की इंजीनियर से दोस्ती करवाई। फिर होटल में आरती ने मोबाइल फोन से दोनों का वीडियो बनाया। वीडियो बनाने के बाद आरती और मोनिका इंजीनियर को ब्लैकमेल करने लगीं। ब्लैकमेलिंग का यह सिलसिला आठ महीनों से चल रहा था। इस दौरान इंजीनियर तीन बार पैसे भी दे चुके थे। इस बार तीन करोड़ की डिमांड आई तो इंजीनियर ने पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी।

एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र ने बताया कि हरभजन ने तीन दिन पहले पलासिया थाने में शिकायत दी थी, जिसके बाद पुलिस ने इन महिलाओं को फोन कर  50 लाख रु. की पहली किश्त लेने का लालच दिया। आरती, मोनिका और ड्राइवर ओमप्रकाश जब विजय नगर स्थित बीसीएम हाईट्स पहुंचे तो पुलिस ने इन्हें धरदबोचा।

काउंटर इंटेलीजेंस ने भोपाल से तीन महिलाओं को पकड़ा
राजनेताओं और अफसरों को ब्लैकमेल करने वाली हाईप्रोफाइल महिलाओं को मप्र की एंटी टेररिस्ट स्क्वाॅड (एटीएस) ने नहीं पकड़ा, बल्कि उनके संबंध में इनपुट मध्यप्रदेश की काउंटर इंटेलीजेंस ने इकट्ठा किए थे। इंदौर पुलिस की सूचना के बाद काउंटर इंटेलीजेंस की टीम ने भोपाल पुलिस की मदद से तीन महिलाओं को बुधवार को आराधना नगर, रिवेयरा टाउन और न्यू मिनाल रेसीडेंसी से गिरफ्तार किया।

भाजपा-कांग्रेस नेताओं से सीधे संबंध, अफसरों के दफ्तर में सीधे घुस जाती थीं
इन महिलाओं के भाजपा-कांग्रेस के कई प्रभावशाली नेताओं से संबंध हैं। वल्लभ भवन में कुछ अधिकारियों के यहां श्वेता और स्वप्निल का सीधा आना-जाना है। श्वेता स्वप्निल जैन के संबंध भाजपा के तीन पूर्व मंत्रियों और इंदौर के एक पूर्व विधायक से हैं। वह रिवेयरा टाउनशिप में अभी पन्ना से भाजपा विधायक व पूर्व मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह के डुप्लेक्स नंबर 48 में रहती है। नीमच से भाजपा विधायक दिलीप सिंह परिहार ने बताया कि दो साल पहले श्वेता स्वप्निल ने सास-ससुर की तबीयत खराब बताकर मेरा डुप्लेक्स नंबर 126 किराए पर लिया था। बाद में उसने मकान खाली किया। इसी मकान में अभी भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा रहती हैं। बताया जा रहा है कि आरोपी बरखा ने भोपाल में तीन करोड़ रु. में एक जमीन खरीदी है।

  • आरती दयाल: करीब एक साल से सागर लैंडमार्क मिनाल रेसीडेंसी में रह रही है। उसने एक क्रेटा गाड़ी अपने नाम रजिस्टर्ड कराई है। आरती ने 8 माह पहले पति पंकज के खिलाफ छतरपुर के सिविल लाइन थाना में दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज कराया था। कथित तौर पर बताया जा रहा है कि आरती छतरपुर में भी करीब दस लोगों को ब्लैकमेल कर चुकी है।
  • श्वेता विजय जैन: सागर की रहने वाली है। भोपाल में न्यू मीनाल में रहती है। 2015 में इलेक्ट्रिकल एंड थर्मल इंसुलेशन प्रोडेक्ट की कंपनी शुरू की थी। पुलिस ने घर से 14.17 लाख नगद बरामद किए हैं। इसने सेकंड हैंड मर्सिडीज (एमपी 04 सीएक्स 0072) इसी साल जून में खरीदी थी। इसके पास एक ऑडी भी है।
  • श्वेता स्वप्निल जैन: मूलत: जयपुर निवासी श्वेता यहां रिवेयरा में रहती हैं। उसके पति को पब पार्टियों में देखा जाता रहा है। दोस्तों को ठग चुके हैं। श्वेता के घर के पास ऑडी भी खड़ी मिली।
  • बरखा सोनी भटनागर: अमित सोनी से दूसरी शादी की। अमित एनजीओ चलाते हैं। एग्रीकल्चर से संबंधित प्रोजेक्ट पर काम करते हैैं। बरखा देह के व्यापार में वर्ष 2014 से लिप्त थी। इसके बाद सागर की श्वेता जैन से जुड़ी। बरखा के पास कार और ऐशोआराम की तमाम चीजें हैं।
  • मोनिका यादव: राजगढ़ निवासी। बीएससी की पढ़ाई कर रही है। उम्र 18 वर्ष से थोड़ी अधिक है। आईएएस और कुछ नेताओं के पास आना-जाना था। ये मोबाइल फोन पर मीठी बातों और मैसेज से अफसरों को फंसाने में सक्रिय है। आरती ने इसे जोड़ा था।

आठ नेताओं और पांच अफसरों की क्लिप इनके पास
विश्वस्त सूत्र बताते हैं कि आठ नेताओं और पांच अफसरों की वीडियो क्लिप इन महिलाओं के पास होने की संभावना है। पुलिस को श्वेता जैन के घर से 14.17 लाख रु. नकद मिले। सभी महिलाओं से मोबाइल फोन, पेन ड्राइव और लैपटॉप मिले हैं। बताया जा रहा है कि लैपटॉप में एक दर्जन से ज्यादा वीडियो, 8 से ज्यादा सिम, मोबाइल फोन भी हैं। पुलिस अभी सारे वीडियो और लैपटॉप की जांच कर रही है। क्राइम ब्रांच के सूत्रों का कहना है कि ज्यादातर वीडियो नेताओं और अफसरों के हैं, जिन्हें ये महिलाएं प्यार में फंसाकर ब्लैकमेल कर रहीं थीं।

    Tags

    Related Articles

    Close