मध्य प्रदेश

अग्रसेन जयंती पर कुलदेवी महालक्ष्मी को कोलकाता से बुलवाए 101 विशेष थालों से लगेगा 56 भोग 

इन्दौर । अग्रवाल समाज केंद्रीय समिति द्वारा पितृ पुरूष महाराजा अग्रसेन की 5143वीं जयंती पर 29 सितंबर को पोद्दार प्लाजा में शहर के अग्र बंधुओं द्वारा कुलदेवी महालक्ष्मी, सालासर बालाजी एवं महाराजा अग्रसेन की भव्य झांकी का निर्माण कर 101 बड़े थालों से 56 भोग समर्पित कर सामूहिक महाआरती की जाएगी। ये विशेष थाल 28 इंच वर्गाकार गोलाई के होकर इनमें 56 कटोरियां और एक बड़ा प्याला भी है। ये थाल एवं इस महोत्सव में शामिल समाजबंधुओं के सम्मान के लिए दुपट्टे तथा अन्य वस्त्र भी कोलकाता से मंगाए गए हैं।
केंद्रीय समिति के अध्यक्ष गोविंद सिंघल की अध्यक्षता में कल शाम होटल अप्सरा में हुई बैठक में उक्त महोत्सव की तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया। बैठक में समिति के महामंत्री पवन सिंघल क्रेन, संयोजक राजेंद्र समाधान, कोषाध्यक्ष नवीन बागड़ी, मनोज बंसल, दीप्ति अग्रवाल, सुरेश अग्रवाल सहित अग्रवाल समाज के 120 से अधिक संगठनों के प्रतिनिधि एवं पदाधिकारी उपस्थित थे। निर्णय लिया गया कि अग्रसेन जयंती महोत्सव के 29 सितंबर को निकलने वाले चल समारोह का समापन पोद्दार प्लाजा परिसर में कुलदेवी महालक्ष्मी को 56 भोग समर्पित कर महाआरती के साथ होगा।
छप्पन भोग के लिए कोलकाता से 101 विशेष थाल बुलवाए गए हैं जिनमें 56 भोग को अलग-अलग रखने की व्यवस्था है। पोद्दार प्लाजा में इस महोत्सव में शामिल अग्रबंधुओं को सबसे पहले भंडार गृह से सजे हुए थाल दिए जाएंगे जो वे मस्तक पर धारण कर नंगे पैर ढोल ढमाकों के साथ महाराजा अग्रसेन के छत्र और चुनरी की छाया में लेकर मंच पर पहंुचेंगे और कुलदेवी महालक्ष्मी, सालासर बालाजी तथा महाराजा अग्रसेन के दरबार को 56 भोग समर्पित करेंगे। इसके पूर्व मंच पर ज्योत प्रज्जवलन भी होगा। बैठक में अध्यक्ष गोविंद सिंघल, महामंत्री पवन सिंघल, संयोजक राजेंद्र गोयल, कोषाध्यक्ष नवीन बागड़ी, उपाध्यक्ष मनोज बंसल, महिला उपाध्यक्ष दीप्ति अग्रवाल, सहमंत्री राजेश इंजीनियर, सह संयोजक सुरेश अग्रवाल तथा कार्यकारिणी एवं सलाहकार मंडल के सभी प्रमुख सदस्य भी उपस्थित थे। छप्पन भोग एवं महाआरती के लिए सर्वश्री किशोर गोयल, नंदकिशोर कंदोई, राजेंद्र समाधान, अरविंद बागड़ी, संजय बांकड़ा एवं कुलभूषण मित्तल कुक्की को व्यवस्था प्रभारी नियुक्त किया गया है। आज सुबह इन सभी पदाधिकारियों ने खजराना गणेश मंदिर पहंुचकर गणेशजी एवं कुलदेवी महालक्ष्मी को अग्रसेन जयंती महोत्सव का पहला निमंत्रण समर्पित किया।

Tags

Related Articles

Close