Breaking Newsव्यापार

पंजाब के बॉर्डर पर बसे गांवों में बाढ़, पाकिस्तान लगातार छोड़ रहा पानी

पाकिस्तान से आ रहा पानी पंजाब के खेतों में लगातार नुकसान पहुंचा रहा है. वहीं पाकिस्तान बाढ़ के पानी का फायदा उठाकर पानी में ट्रक की ट्यूबों और कोल्ड ड्रिंक्स की बोतलों के सहारे नशा और हथियार जैसी चीजें भेजने की कोशिश कर रहा है, लेकिन बीएसएफ के जवान ऐसी तमाम कोशिशों को नाकाम करने के लिए दिन-रात पैट्रोलिंग में जुटे हैं.
पाकिस्तान से लगते पंजाब के बॉर्डर के जिलों में बाढ़ का कहर जारी है. इस बाढ़ की वजह पाकिस्तान के कुसूर जिले से छोड़ा गया पानी है. दरअसल सतलुज, रावी और व्यास का पानी पंजाब से कई जगहों पर पाकिस्तान में जाता है और घूमकर वापस फिर पंजाब में आ जाता है.

कुसूर जिले में रावी नदी पर पाकिस्तान ने डैम बनाया हुआ है जिससे गट्टा बैराज के जरिए पानी छोड़ा जाता है. वहां पर पाकिस्तान ने सारे फ्लडगेट खोल दिए हैं तो दूसरी तरफ बुड्ढा नाला के बांध को तोड़ दिया है जिसकी वजह से ढाई लाख क्यूसेक से ज्यादा पानी पंजाब के फिरोजपुर जिले में घुस गया है. कई जगहों पर बॉर्डर पर लगाई गई फेंसिंग भी बह गई है, लेकिन बीएसएफ के जवान वहां पर दिन रात मोटर बोट के जरिए पैट्रोलिंग कर रहे हैं.

पाकिस्तान से आ रहा पानी पंजाब के खेतों में लगातार नुकसान पहुंचा रहा है. वहीं पाकिस्तान बाढ़ के पानी का फायदा उठाकर पानी में ट्रक की ट्यूबों और कोल्ड ड्रिंक्स की बोतलों के सहारे नशा और हथियार जैसी चीजें भेजने की कोशिश कर रहा है, लेकिन बीएसएफ के जवान ऐसी तमाम कोशिशों को नाकाम करने के लिए दिन-रात पैट्रोलिंग में जुटे हैं. पानी में फिलहाल बोट के जरिए पैट्रोलिंग की जा रही है.

भारत-पाकिस्तान की सीमा से सटे हुए गांव में बाढ़ की वजह से हालात बेहद बुरे हैं. गांव के लोगों को निकालने के लिए नावों का सहारा लिया जा रहा है तो वहीं इन्हीं नाव के जरिए गांव में खाने-पीने का सामान पहुंचाया जा रहा है, लेकिन गांव वालों की चिंता यह है कि जब बाढ़ का पानी उतर जाएगा तब वह क्या करेंगे? क्योंकि उनकी फसलें इस बाढ़ से बिल्कुल तबाह हो चुकी हैं तो वहीं प्रशासन भी पूरी तरीके से मदद उनके पास नहीं पहुंचा पा रहा है.

Related Articles

Close